• Bihar Fraternity Conclave 2018, Patna

    16 नवंबर को संध्या साढ़े पाँच बजे से साढ़े नौ बजे तक पटना के भारतीय नृत्य कला मंदिर में “Bihar Fraternity Conclave 2018” कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमें बिहार के विकास के मुद्दों पर चर्चा हुई और साथ ही साथ कवि सम्मेलन व लोकगीतों का भी दर्शकों ने लुत्फ़ उठाया।

    दीप-प्रज्वलन और ‘तनिष्का’ द्वारा स्वागत नृत्य से कार्यक्रम को आरम्भ किया गया। उसके बाद बिहार फ्रेटर्निटी के सह-संस्थापक व उपाध्यक्ष श्री प्रकाश शर्मा ने फ़ोरम के उद्देश्यों को उपस्थित लोगों के साथ साझा किया।

    पहली परिचर्चा जो ‘शिक्षा, स्वास्थ्य व कला’ से जुड़ी थी, उसमें भाग लेते हुए शिक्षा से जुड़े समाजसेवी डॉ कुमार अरुणोदय, डॉ विकास सिंह, पेंटर मीनाक्षी झा बनर्जी व मूर्तिकार शरद कुमार ने अपनी बातें सभी के समक्ष रखी और लोगों के प्रश्नों का जवाब दिया। सत्र को संचालित फ़िल्म निर्माता ‘रविराज पटेल’ ने किया।

    प्रख्यात लोक-गायिका “चंदन तिवारी” व “छाया कुमार” ने अपने लोकगीतों से लोगों का दिल जीत लिया। 

    सा रे ग म पा के प्रतिभागी और उभरते गायक “आलोक चौबे” ने लोगों को अपने गानों से ख़ूब झूमाया।

    अंतिम परिचर्चा में जद(यू) से अशोक चौधरी, भाजपा से नीतीश मिश्रा और आरजेडी से आलोक कुमार मेहता ने बिहार की तरक़्क़ी में राजनीति की भागीदारी पर खुल कर अपना बात रखा। सत्र को संचालित न्यूज़ फ़ोर नेशन के सम्पादक “कौशलेन्द्र प्रियदर्शी” ने किया।

    अंत में डेढ़ घंटे के कवि सम्मेलन में मशहूर हास्य कवियों की टोली शम्भू शिखर, चिराग़ जैन, रमेश मुस्कान व स्वाति ख़ुशबू ने अपनी प्रस्तुतियों से लोगों का काफ़ी मनोरंजन किया।

    आचार्य सुदर्शन जी महाराज ने अपनी उपस्थिति से कार्यक्रम की गरिमा में चार चाँद लगा दिया।

    एम.सी की भूमिका में रेडीयो मिर्ची के आरजे शशि ने पूरे कार्यक्रम के दौरान माहोल को बांधे रखा। लोटपोट करने वाले हैं। कलाकारों व चर्चा करने आए विशेषज्ञॊं को मिथिला चित्रकारी और शॉल दे कर सम्मानित किया गया।